Best 100+ Kushwaha Attitude Shayari in hindi | कुशवाहा साहब के एटीट्यूड Status, Quotes शायरी

हेलो कुशवाहा समाज के दोस्तों आपको इस पोस्ट में हमारी समाज की बहुत अच्छी-अच्छी कुशवाहा बिंदास बदमाश शायरियां दी गई है जो कि कुशवाहा समाज के युवा लड़कों को बहुत ज्यादा पसंद आने वाली है इन कुशवाहा समाज की बिंदास एटीट्यूड शायरियो को आप अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर भी लगा सकते हो। हमारे कुशवाहा समाज की मजेदार शायरियों में जबरदस्त शायरियों को अपने बाकी कुशवाह भाइयों के साथ भी शेयर अवश्य करें जिससे आपके कुशवाहा भाई इस पोस्ट का लाभ उठा सकें यह पोस्ट हम सभी कुशवाहा भाइयों के लिए ही बनाई गई है। अगर आप भी एक सच्चे खुश हुआ हो तो आपको यह Kushwaha Attitude Shayari अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करनी चाहिए।

kushwaha shayari in hindi 2024

 

हिम्मत की बात मत कर पगली, हम कुशवाह तो सेल्फी में भी शेर ही दिखते है।
 
 
 

 

 
 
यू हर किसी के हाथों बिकने को तैयार नहीं, ये कुशवाह का जिगर है तेरे शहर का अखबार नहीं।
 
 
 

 

 
 
कुशवाह को देख कर पुलिस भी मारे कलटी, 
वो लड़की ही क्या जो कुशवाह को देख कर न पलटी।
 
 
 
 

 

 
 
बाज की नज़र और कुशवाह का मूड कब बदल जाये पता नहीं लगता।
 
 
 
 

 

 
जंगले में शेर से और रास्ते में कुशवाह से बचकर रहना चाहिए क्याेकि शेर सिर्फ फाड़ते और कुशवाह जिन्दा गाड़ते हैं।
 
 
 
 
 
 

मैं झुक नहीं सकता मैं शौर्य का अखंड भाग हूँ

जला दे जो दुश्मन की रूह तक मैं वही की औलाद हूँ।

कुशवाह को परखने की हिम्मत मत करना इतिहास गवाह है

कुशवाह पहले भी कई तूफानों का मुंह मोड़ चुके हैं।

राज तो कुशवाह का हर जगह पे है

पसंद करने वालों के दिल में और नापसंद करने वालों के दिमाग में।

रानी नहीं है तो क्या हूआ,

यह कुशवाह बादशाह आज भी लाखों दिलों पर राज करता है।

पानी मर्यादा तोडे तो विनाश और कुशवाह मर्यादा तोड़े तो सर्वनाश..!

जमीन की किमत और कुशवाह की हिम्मत

पगली कभी कम नहीं होती।

ज़हा से तेरी बादशाही खत्म होंती हे,

वहा से कुशवाह की नवाबी सुरु होती हे।

हर जगह चर्चे है कुशवाह राज की,

जरूरत नही है हमे किसी ताज की..!!

किसी ने गैंगस्टर बनना है – किसे IPS बनना है….
पर हमने हर जन्म में बिंदास कुशवाह बनना है…

कुशवाह को मारे कुशवाह या फेर मारे भगवान और कोई ना छु सके चाहे हो कितना बलवान

इस तरह होगा हमारा नाम,
सब कहेगें कुशवाह साहब राम-राम !

 

न्यू कुशवाह शायरी

कुशवाह साहब की ज़िन्दगी का एक ही उसूल है,
साँस छोड़ देवांगे पर साथ नी !

कुशवाह जी है हम..
हमें पैसे से ज्यादा इज्ज़त प्यारी होवे !

कुशवाह जी का नारा लगा के दुनिया में हम छा गये दुश्मन भी छुपकर बोले, व देखो कुशवाह साहब के छौरे आ गये..

जमीन की किमत और कुशवाह जी की हिम्मत पगली कभी कम नहीं होती

ज़हा से तेरी बादशाही खत्म होंती हे, वहा से कुशवाह जी की नवाबी सुरु होती हे

शोक उचे है रुतबा ऊँचा है कुशवाह साहब के आगे ये ज़माना झुकता है !

 

Last Word
कुशवाहा भाइयों मुझे आशा है कि आपको यह पोस्ट बहुत ज्यादा पसंद आई होगी अगर आपको यह कुशवाह समाज की बिंदास बदमाश Attitude Shayari पसंद आई है तो इस अपने बाकी के कुशवाह भाइयों के साथ शेयर करे जिस से वह भी इस पोस्ट का लाभ उठा सकें। यह पोस्ट हम सभी कुशवाहा भाइयों के लिए है इस पोस्ट में हमको अपने कुशवाहा समाज की बहुत अच्छी-अच्छी शायरियां पढ़ने को मिलती है इस पोस्ट का लाभ अपने बाकी कुशवाह भाई भी उठा सके इसलिए इस पोस्ट को अपने कुशवाहा भाई के साथ शेयर अवश्य करें इस पोस्ट को बनाने का उद्देश्य कुशवाहा भाईयों तक कुशवाहा शायरी को पहुंचाना है। क्योंकि हम आगे कुशवाहा भाइयों को कुशवाहा शायरी बहुत ज्यादा पसंद आती है। इसी उद्देश्य के चलते हमने यह पोस्ट बनाई है। कि इस पोस्ट में कुशवाह भाइयों को अपने कुशल समाज की शायरी उपलब्ध करवा सकें।
 
 
यह भी पढ़े :-

Leave a comment